UP Free Tablet And Smartphone>>वितरण पर लगी रोक, 24.5 लाख

आप स्टूडेंट्स है ज्वाइन करे

लाखों छात्रों की टैबलेट और स्मार्टफोन UP Free Tablet And Smartphone>>वितरण पर , 24.5 लाख मिलने की आशाएं ढेर हो गई हैं। यूपी राज्य के 49 जिलों में करीब 2477008 छात्रों ने लैपटॉप और स्मार्टफोन और टेबलेट के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था,

Latest Update :UP Free Tablet and Smartphone वितरण पर लगी रोक, 24.5 लाख छात्रों को जानें अब कब मिलेंगे टैबलेट और स्मार्टफोन 

मोबाइल और टैबलेट की स्क्रीन से वॉलपेपर नहीं हटा सकते छात्र

आईटी एक्सपर्ट उपेन्द्र अवस्थी ने जानकारी दी है कि, यूपी सरकार की तरफ से बांटे गए टैबलेट और मोबाइल की स्क्रीन पर पीएम मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ की तस्वीर वाला वॉलपेपर सेट किया गया है, और यह वॉलपेपर ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ अपडेट किया गया है। इसलिए यह वॉलपेपर आसानी से हटाना संभव नहीं है, केवल निर्माता कंपनी ही ऑपरेटिंग सिस्टम में बदलाव करके वॉलपेपर को हटा सकती है। हालांकि पिछली बार जब यूपी प्रदेश में सपा सरकार ने लैपटॉप और मोबाइल विद्यार्थियों को बांटे थे, उस समय भी गैजेटस पर उस समय के तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की तस्वीर होने से काफी दिक्कतें हुई थीं।

विद्यार्थियों को बाँटने के लिए जो गैजेटस मंगाए गए थे उनमें से बचे हुए गैजेटस का वितरण फिलहाल के लिए रोक दिया गया है। पात्र छात्रों के मोबाइल पर योजना के तहत चयनित होने का मैसेज आने पर खुशियां छा गयी थी और सभी पात्र विद्यार्थियों ने गैजेटस की उम्मीद में विश्वविद्यालय और कॉलेज के बहुत चक्कर काटे। इसके अलावा कुछ साथियों को टैबलेट मिलने से बाकी चयनित छात्रों की उम्मीद और बढ़ गई कि जल्द ही उन्हें भी योजना का लाभ मिलेगा, लेकिन आचार संहिता लागू होते ही उनकी उम्मीदें धरी की धरी रह गई हैं। जानकारी के अनुसार, टैबलेट और मोबाइल की स्क्रीन पर पीएम मोदी और सीएम योगी की तस्वीर होने से फिलहाल यह योजना आधे में रुक गई है। पहले चरण में पात्र छात्रों को गैजेटस का वितरण जिले के हिसाब से शुरू कर दिया गया था।

UP Free Tablet and Smartphone 2022

यूपी में चुनाव की तैयारियों के चलते यूपी के 49 जिलों में करीब साढ़े 24 लाख विद्यार्थियों के टैबलेट और स्मार्टफोन वितरण की प्रक्रिया फिलहाल आचार संहिता के कारण आधे में रुक गयी है। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के सभी जनपदों में टेबलेट और स्मार्टफोन आवंटन की प्रक्रिया पर फिलहाल रोक लगा दी गई है

टैबलेट और स्मार्टफोन का वितरण नहीं
जिला निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक चुनाव प्रक्रिया के दौरान टेबलेट और स्मार्टफोन नहीं बांटे जाएंगे जितना करण आए थे उनको वितरण किया जा चुका हैfree Laptop Distt Wise 2nd New Official List इन जिलों में बांटे जाएंगे लैपटॉप

छात्रों का मोबाइल लैपटॉप मिलने की उम्मीद ढेर हो गई

उत्तर प्रदेश के 49 जिलों में छात्रों ने लैपटॉप और स्मार्टफोन योजना के लिए पंजीकरण कराए थे। पहले चरण में 31 दिसंबर तक प्रदेश के किन जिलों में 38140 छात्रों को लैपटॉप टेबलेट बांटे जा चुके थे छात्रों को देने के लिए आए गैजेट्स में से शेष का वितरण अब रोक दिया गया है गैजेट्स की जहां में छात्रों ने लाइनें लगाई थी विवि और कॉलेजों के चक्कर भी काटे मोबाइल पर चयनित होने का मैसेज भी आ गया कुछ साथियों के हाथ में टेबलेट पहुंचे तो चेहरों पर उम्मीद की चमक और बढ़ गई

Free Laptop 2022 इन SMS वाले छात्रों को मिलेगा कल लैपटॉप टैबलेट

लेकिन आचार संहिता लगते ही उनकी उम्मीदें धूमिल हो गई बताया जा रहा है कि टेबलेट और मोबाइल की स्क्रीन पर पाएंगे मोदी और सीएम योगी के फोटो होने से यह योजना फिलहाल खटाई में पड़ गई है आगरा में पंजीकरण कराने वाले डॉक्टर बी आर ए विद्यालय के लगभग 1.52 लाख छात्रों में गैजेट्स न मिलने से मायूसी है।

स्क्रीन से वॉलपेपर नहीं हटा सकते छात्रों

आईटी एक्सपर्ट उपेंद्र अवस्थी के अनुसार सरकार की ओर से दिए गए टेबलेट और मोबाइल की स्क्रीन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तस्वीर वाला वॉलपेपर लगा हुआ है यह ओsk7 अपडेट किया गया है ऐसे में इस वॉलपेपर को सामान्य रूप से हटाना संभव नहीं है निर्माता कंपनी ही ओ एस में बदलाव कर हटा सकती है हालांकि पिछली बार प्रदेश की सपा सरकार में लैपटॉप मोबाइल विद्यार्थियों को बांटे गए थे उस वक्त भी तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव का फोटो होने से दिक्कत हुई थी।,,

इन जिलों में 38140 छात्रों को लैपटॉप-टेबलेट बांटे जा चुके थे।

स्क्रीन से वॉलपेपर नहीं हटा सकते छात्र : आईटी एक्सपर्ट उपेन्द्र अवस्थी के अनुसार सरकार की ओर से दिए गए टैबलेट और मोबाइल की स्क्रीन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तस्वीर वाला वॉलपेपर लगा हुआ है। यह ओएस के साथ अपडेट किया गया है।

ऐसे में इस वॉलपेपर को सामान्य रूप से हटाना संभव नहीं है। निर्माता कंपनी ही ओएस में बदलाव कर हटा सकती है। हालांकि पिछली बार जब प्रदेश की सपा सरकार में लैपटॉप-मोबाइल विद्यार्थियों को बांटे गए थे, उस वक्त भी तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव का फोटो होने से दिक्कतें हुई थीं।

आप में से यदि किसी छात्र छात्राओं का डाटा अभी तक विश्वविद्यालय नहीं पहुंचा है तो सबसे पहले वह अपने विद्यालय को संपर्क करें और वहां से चेक करें कि आप लोगों का डाटा पहुंचाया गया है अथवा नहीं यदि ऐसा पाया जाता है कि आपका डाटा किसी कारण से नहीं पहुंचाया जाता है तो अभी भी समय है वह अपने विद्यालय के द्वारा अपने डेटा को थर्ड मेरिट लिस्ट में शामिल करने के लिए जल्द से जल्द कार्रवाई करें जो कि उनके विद्यालयों के द्वारा ही की जा सकती है अन्यथा और कहीं से नहीं

यूपी फ्री लैपटॉप योजना रजिस्ट्रेशन 2021 Click Here
Our Website Click Here
Official Website Click Here
Join Us on Telegram Click Here
All Hindi Update  Click Here

Leave a Comment

Your email address will not be published.