ccsu exams 2022 : यूनिवर्सिटी एग्जाम को लेकर बड़ी अपडेट छात्र -छात्राए इस दिन से भरे प्राइवेट परीक्षा के फार्म

आप स्टूडेंट्स है ज्वाइन करे

ccsu exams 2022 : यूनिवर्सिटी एग्जाम को लेकर बड़ी अपडेट  इस दिन से भरे जाएंगे प्राइवेट परीक्षा के फार्म 2022 , उत्तर प्रदेश के मेरठ-सहारनपुर मंडल के नौ जिलों में स्नातक प्रथम वर्ष में बीए-बीकॉम प्राइवेट परीक्षा पूर्व की तरह यथावत रहेंगी। स्नातक रेगुलर में एनईपी लागू होने के बीच प्राइवेट प्रथम वर्ष की परीक्षा को लेकर जारी संशय को विवि ने खत्म कर दिया है। कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला की अध्यक्षता में बुधवार को हुई परीक्षा समिति की बैठक में यह निर्णय हुआ।

विवि जल्द ही यूजी प्राइवेट प्रथम वर्ष के परीक्षा फॉर्म जारी करेगा।

बीए, बीकॉम प्राइवेट प्रथम वर्ष में छात्रों को वार्षिक प्रणाली में ही पेपर देने होंगे। बैठक में प्रोवीसी प्रो.वाई विमला, रजिस्ट्रार धीरेंद्र कुमार वर्मा, परीक्षा नियंत्रक डॉ. अश्विनी कुमार शर्मा, प्रो. एनसी लोहनी, प्रो. मृदुल गुप्ता, प्रो. हरे कृष्णा, प्रो. एसएस गौरव, प्रो. विजय जायसवाल, सहायक कुलसचिव सत्य प्रकाश, डॉ. अंजलि मित्तल, डॉ. जीनत जैदी, डॉ. अंजू सिंह, प्रो. प्रशांत कुमार, मितेंद्र कुमार गुप्ता मौजूद रहे।

डेढ़ घंटे के होंगे सेमेस्टर वार्षिक पेपर

कोरोना संक्रमण फिर से बढ़ने से विवि ने पूर्व वर्ष की तरह ही सेमेस्टर एवं वार्षिक परीक्षाएं डेढ़ घंटे में ही कराने का निर्णय लिया है। पिछले साल भी शासन के निर्देश पर विवि ने परीक्षा अवधि तीन घंटे से घटाकर डेढ़ घंटे कर दी है। विवि डेढ़ घंटे के आधार पर ही प्रश्न पत्र तैयार कराएगा।

प्राइवेट में नहीं बदलेगा रोल नंबर

प्राइवेट छात्र-छात्राओं का रोल नंबर अब हर साल नहीं बदलेगा। अभी तक छात्र का प्रत्येक वर्ष में कॉलेज बदलने के साथ ही रोल नंबर भी बदल रहा था, लेकिन अब पहले साल से अंतिम वर्ष तक एक ही रोल नंबर रहेगा।

सेमेस्टर, वार्षिक में उपाधि पूरी करने की छूट

विवि ने सेमेस्टर और वार्षिक प्रणाली में डिग्री पूरी करने की निर्धारित अवधि पूरी कर चुके छात्रों को राहत दे दी है। एक साल अधिक होने पर पांच हजार रुपये और दो साल अधिक पर दस हजार रुपये अतिरिक्त जमा करते हुए छात्र अपनी उपाधि पूरी कर सकते हैं।

प्राइवेट में भरे जाएंगे सिंगल सब्जेक्ट के फॉर्म

विवि ने प्राइवेट में सिंगल सब्जेक्ट भरने की अनुमति भी दी है। हिन्दी, संस्कृत और अंग्रेजी सहित विभिन्न विषयों में छात्र एकल विषय में स्नातक की परीक्षा देते हैं। टीजीटी में न्यूनतम अर्हता तय करने को हर वर्ष सैकड़ों छात्र सिंगल सब्जेक्ट के लिए आवेदन करते हैं। विवि के इस फैसले से छात्रों को बड़ी राहत होगी।

प्रथम सेमेस्टर, साल में प्रमोशन पर फेल तो दोबारा पेपर

प्रथम सेमेस्टर या प्रथम वर्ष में प्रमोशन पाने वाले छात्र यदि द्वितीय सेमेस्टर या द्वितीय वर्ष में फेल हो गए हैं तो उन्हें फिर से दूसरे सेमेस्टर या वर्ष की परीक्षा देनी होगी। इसमें प्राप्त अंकों के आधार पर ही प्रथम सेमेस्टर या वर्ष की मार्कशीट संशोधित होगी।

साथ ही पिछले साल की तरह से तीन घंटे की जगह डेढ़ घंटे का पेपर भी किया जा सकता है। हालांकि अभी इस पर विश्वविद्यालय की ओर से कोई निर्णय नहीं लिया गया है। शासन से निर्देश आने पर ही ऐसा किया जा सकता है।

Join FREE Job Alert Group
For Telegram For WhatsApp
 FaceBoo k
Instagram 

ccsu exams 2022 : यूनिवर्सिटी एग्जाम को लेकर बड़ी अपडेट जल्द देखे सभी छात्र -छात्राए

Leave a Comment

Your email address will not be published.